33.1 C
Raipur
Thursday, June 13, 2024

हिंसा का रास्ता छोड़ मुख्यधारा में लौटे 35 नक्सली, लोन वर्राटू अभियान के तहत सरेंडर, फोर्स के दबाव में बैकफुट पर माओवादी

दंतेवाड़ा. न्यूजअप इंडिया
छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा जिले में पुलिस को बड़ी सफलता मिली है। नक्सल प्रभावित भैरमगढ़, मलांगेर और कटेकल्याण एरिया कमेटी में सक्रिय 35 माओवादियों ने पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। सरेंडर करने वालों में एक-एक लाख रुपये के 3 इनामी नक्सली भी हैं। यह सभी आत्मसमर्पित माओवादी बंद के दौरान सड़क खोदने, पेड़ काटने, नक्सली बैनर-पोस्टर लगाने सहित फोर्स को नुकसान पहुंचाने की घटनाओं में शामिल रहे हैं। सभी माओवादियों ने दंतेवाड़ा पुलिस के लोन वर्राटू (घर वापस आइये) अभियान के तहत हिंसा का रास्ता छोड़ा है।

दंतेवाड़ा SP गौरव राय ने बताया कि रविवार को दंतेवाड़ा एसपी कार्यालय में सरेंडर करने वाले 35 माओवादियों में से 25 नक्सलियों को डिस्ट्रिक्ट रिजर्व गार्ड (DRG) दंतेवाड़ा, 6 माओवादियों को आरएफटी CRPF और 4 माओवादियों को 111वीं वाहिनी CRPF दंतेवाड़ा के द्वारा सरेंडर कराने में विशेष योगदान रहा। एसपी ने बताया कि लोन वर्राटू अभियान के तहत अब तक 180 इनामी माओवादी सहित कुल 796 नक्सली सरेंडर कर समाज के मुख्यधारा में जुड़ चुके हैं।

एसपी गौरव राय ने कहा कि जिला पुलिस बल और CRPF सभी भटके हुए माओवादियों से अपील करती है कि हिंसा का रास्ता छोड़कर समाज की मुख्यधारा से जुड़े। संविधान पर भरोसा रखें। पुलिस थाना या फोर्स कैंप में संपर्क करें और क्षेत्र के विकास में अपना अमूल्य योगदान दे। बता दें कि फोर्स के दबाव में नक्सली लगातार बैकफुट पर दिख रहे हैं। कुछ दिनों पहले कांकेर जिले में पुलिस-नक्सली मुठभेड़ में 29 और नारायणपुर जिले में हुए एनकाउंट में 10 नक्सलियों को जवानों ने ढेर किया था। मुठभेड़ की घटनाओं के बाद नक्सली लगातार समर्पण कर रहे हैं।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here