33.2 C
Raipur
Friday, May 24, 2024

लोकसभा में साथ और विधानसभा में दो-दो हाथः छत्तीसगढ़ को केजरीवाल-भगवंत मान देंगे 10वीं गारंटी, जानिये-AAP ने बढ़ाई किसकी टेंशन?

रायपुर। दिल्ली और पंजाब में ऐतिहासिक जीत से उत्साहित आम आदमी पार्टी (AAP) की नजर छत्तीसगढ़ पर है। ‘आप’ के संयोजक अरविंद केजरीवाल और पंजाब के मुख्यमंत्री भगवंत मान छत्तीसगढ़ आ रहे हैं। बस्तर में आम सभा को संबोधित करेंगे और छत्तीसगढ़ के लिए 10वीं गारंटी देंगे। इससे पहले केजरीवाल और मान ने 19 अगस्त को रायपुर में 10 गारंटी की घोषणा की थी। 9 गारंटी को उन्होंने बताया था और 10 गारंटी देने फिर छत्तीसगढ़ आने की बात कही थी। छत्तीसगढ़ में ‘आप’ की सक्रियता ने भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस पार्टी की टेंशन भी बढ़ा दी है।

बता दें कि लोकसभा चुनाव के लिए AAP पार्टी इंडिया अलायंस के साथ है, लेकिन छत्तीसगढ़ में कांग्रेस सरकार से ही दो-दो हाथ करने को तैयार है। केजरीवाल के दौरे से एक दिन पहले आप के प्रदेश प्रभारी संजीव झा ने कहा था, छत्तीसगढ़ में सरकार का रास्ता बस्तर से होकर गुजरता है। जिधर बस्तर, उधर सरकार होती है। छत्तीसगढ़ और बस्तर की जनता ने भाजपा और कांग्रेस दोनों को मौका दिया है। अब हमें मौका दें। हमारी सरकार बनी तो छत्तीसगढ़ की तस्वीर और यहां के लोगों की तकदीर बदल दी जाएगी। स्कूल से लेकर हेल्थ और रोजगार के क्षेत्र में हम काम करेंगे।

MP- छत्तीसगढ़ में 10-10 प्रत्याशी उतार चुके
बता दें कि आम आदमी पार्टी ने छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश के लिए 10-10 उम्मीदवारों की घोषणा की है। छत्तीसगढ़ में आम आदमी पार्टी ने भानुप्रतापपुर सीट से AAP के प्रदेश अध्यक्ष कोमल हुपेंडी चुनावी मैदान में उतारा है। इसके अलावा दंतेवाड़ा से बालू राम भवानी, नारायणपुर से नरेंद्र कुमार नाग, अकलतरा से आनंद प्रकाश मिरी, कोरबा से विशाल केलकर, राजिम से तेजराम विद्रोही, पत्थलगांव से राजा राम लकड़ा, कवर्धा से खड़गराज सिंह, भटगांव से सुरेंद्र गुप्ता, कुनकुरी से लेओस मिंज को प्रत्याशी बनाया है।

स्कूल-अस्पताल की बात पार्टियां नहीं करती
पिछले बार रायपुर आए अरविंद केजलीवाल और भगवंत मान ने भाजपा-कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा था। केजरीवाल ने एक रिपोर्ट का हवाला देते हुए कहा था कि छत्तीसगढ़ में सरकारी स्कूलों की हालत बहुत खराब है। आज दिल्ली के सरकारी स्कूलों का हाल देखिए। आजादी के बाद पहली बार दिल्ली में कोई सरकार आई है जो शिक्षा क्षेत्र के लिए इतना कुछ कर रही है। आजादी के 76 साल हो गए किसी राजनीतिक पार्टी को मैंने नहीं देखा कि आपका स्कूल बनवा देंगे, आपके लिए अस्पताल बनवा दूंगा वोट दे दो…। आप अकेली पार्टी है जो मुद्दों की बात करती है। हम नेता नहीं है।

चुनावी राज्यों में संभावना तलाश रही ‘आप’
बता दें कि आम आदमी पार्टी ने सबसे पहले देश की राजधानी दिल्ली में सरकार बनाई। आप की सरकार का यह तीसरा कार्यकाल है। इसके बाद पंजाब में आम आदमी पार्टी को ऐतिहासिक जीत मिली। दिल्ली और पंजाब में सरकार बनाने के बाद पार्टी को राष्ट्रीय पार्टी का तमगा भी मिल गया। पार्टी अभी छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश और राजस्थान जैसे हिन्दी पट्टी राज्यों में ज्यादा फोकस कर रही है। चुनावी राज्यों में भाजपा-कांग्रेस को पटखनी देने बड़ी रणनीति पर काम कर रही है।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here