33.1 C
Raipur
Wednesday, May 29, 2024

झोपड़ी में जिंदा जला बैगा परिवार, 3 लोगों की मौत, कैसे लगी आग, डिप्टी CM ने कही ये बात

कवर्धा. न्यूजअप इंडिया
छत्तीसगढ़ के कवर्धा जिले में एक हृदय विदारक घटना सामने आई है। वनांचल ग्राम नागाडबरा में 8 साल के बच्चे समेत बैगा आदिवासी दंपती की जिंदा जलकर मौत हो गई। हादसे के बाद गांव में मातम पसरा है। दंपती अपने बेटे के साथ रविवार रात 12 बजे छठी कार्यक्रम से घर लौटा था। डिप्टी सीएम और गृहमंत्री विजय शर्मा ने कहा कि मामले की जांच की जाएगी। दुर्ग से फोरेंसिक टीम को भी बुलाया गया है। घटना कुकदुर थाना क्षेत्र के नागाडबरा गांव की है।

पुलिस के मुताबिक प्रथम दृष्टया यह घटना गैंस सिलेंडर में आग लगने के कारण होना प्रतीत हो रहा है। वहीं एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया कि मृतक बुधराम बैगा (35 वर्ष) अपने पत्नी हिरमतीन बाई (32 वर्ष) और जोनहुराम 8 वर्षीय बेटा के साथ बीती रात करीब 12 बजे वापस अपने घर लौटा था। यह हादसा सोमवार सुबह लगभग 5 बजे के आसपास का होना बताया जा रहा है। ग्रामीणों ने सुबह मकान से आग का धुंआ निकलते देखा तब पुलिस को सूचना मिली। देर शाम कलेक्टर जनमेजय महोबे और एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने घटना स्थल का जायजा लिया।

फोरेंसिक जांच से पता चलेगा मौत की वजह
कवर्धा एसपी डॉ. अभिषेक पल्लव ने बताया, ग्राम पंचायत माठपुर अंतर्गत नागाडबरा बस्ती में घटना हुई है। कुकदूर पुलिस मौके पर पहुंची तब तीनों लाश के चिथड़े उड़ गए थे। तीनों शव मकान के मलबे में दबे मिले। फिलहाल फोरेंसिक जांच और पूछताछ के बाद ही मौत की असली वजह सामने आएगी। पुलिस मामले की जांच कर रही है। इस घटना के बाद पंडरिया विधायक भावना बोहरा गांव पहुंची और पीड़ित परिवार से मिलकर उनका ढांढस बंधाया। इधर विधानसभा अध्यक्ष डॉ. रमन सिंह ने आदिवासी परिवार के 3 सदस्यों के आकस्मिक मौत पर शोक व्यक्त किया है।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here