33.1 C
Raipur
Saturday, May 18, 2024

छत्तीसगढ़ में नतीजों से पहले कांग्रेस को सता रहा ‘ऑपरेशन लोटस’ का डर, सभी 90 प्रत्याशी PCC में तलब

रायपुर. न्यूजअप इंडिया
छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के लिए मतदान खत्म होते ही कांग्रेस को ऑपरेशन लोट्स का डर सताने लगा है। शुक्रवार देर शाम कांग्रेस की प्रदेश प्रभारी सैलजा कुमारी दिल्ली से सीधे रायपुर पहुंची। शनिवार को कांग्रेस मुख्यालय में पार्टी के वरिष्ठ नेताओं की मौजूदगी में अगली सरकार के गठन को लेकर चर्चा शुरू हो गई है। आज और कल सभी 90 प्रत्याशियों को रायपुर बुलाया गया है। कांग्रेस के नेताओं का कहना है कि चुनाव के बाद रिव्यू मीटिंग है, लेकिन राजनीतिक सूत्र इसे ‘ऑपरेशन लोटस’ से भी जोड़कर देख रहे हैं।

कांग्रेस भवन में विधानसभा के सभी 90 प्रत्याशियों को तलब कर उनसे पार्टी के प्रदर्शन और चुनाव जीतने की संभावनाओं पर बारी-बारी से ​फीडबैक लिया जा रहा है। छत्तीसगढ़ प्रभारी कुमारी सैलजा प्रत्याशियों के साथ वन टू वन चर्चा कर रही है। मतदान होने के ठीक दूसरे दिन कांग्रेस प्रत्याशियों की इस बैठक के कई मायने निकाले जा रहे हैं। पहले चरण की 20 और दूसरे चरण की 70 सीटों के प्रत्याशियों को तलब किया गया है। कांग्रेस नेताओं का कहना है कि बम्पर वोटिंग और जनता के उत्साह ने बताया दिया है कि छत्तीसगढ़ का भरोसा जीत रहा है। पूर्ण बहुमत से हम पुन: सरकार बनाने जा रहे हैं। इधर भारतीय जनता पार्टी के नेता भी जीतने और पूर्ण बहुमत से सरकार बनाने का दावा कर रहे हैं। बहरहाल, 3 तारीख को नतीजे आने तक चर्चाएं होती रहेंगी।

प्रत्याशियों से फीडबैक लिया जा रहा
कांग्रेस प्रत्याशियों की बैठक के पीछे एक तर्क भी सामने आया है कि शायद पार्टी प्रत्याशियों से फीडबैक लेकर जीत हासिल करने वाली सीटों की संख्या के बारे में अनुमान लगाया जा सकता है। वहीं इस बैठक को लेकर दूसरी राय यह भी है कि पार्टी भविष्य की रूपरेखा बनाने में जुट गई है। कहा यह भी जा रहा है कि स्पष्ट बहुमत नहीं आने पर पार्टी को ‘आपरेशन लोट्स’ से बचाने के लिए इस बैठक को काफी अहम माना जा रहा है। हालांकि कांग्रेस की ओर से इस बार 75 प्लस का नारा दिया गया है, लेकिन मतदाताओं की खामोशी से कांग्रेस नेतृत्व के कान खड़े कर दिए हैं।

भविष्य की रणनीतियों पर हो रही चर्चा
राजनीतिक सूत्रों की मानें तो पार्टी द्वारा सभी प्रत्याशियों को तलब किया जाना और वन-टू-वन चर्चा भविष्य की रणनीतियों के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण है। 2023 के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को ग्राउंड पर कितना समर्थन मिला। किस-किस नेताओं ने पार्टी विरोधी काम यह भी जानना मकसद हो सकता है। इसे आने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारियों से भी जोड़ा जा रहा है। राजीव भवन में बैठक को लेकर पीसीसी चीफ दीपक बैज ने कहा है कि पूरे प्रदेश से कांग्रेस के पक्ष में फीडबैक मिल रहा है। आज की बैठक के बारे में उन्होंने कहा कि प्रत्याशियों से आगे की रणनीति पर चर्चा की जा रही है।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here