33.2 C
Raipur
Friday, May 24, 2024

BJP नेता असीम राय हत्याकांड में 11 आरोपी गिरफ्तार, कांग्रेसी नगर पंचायत अध्यक्ष ने इतने लाख की दी थी सुपारी

कांकेर. न्यूजअप इंडिया
छत्तीसगढ़ में कांकेर जिले के पखांजूर में BJP नेता असीम राय की हत्या का खुलासा हो गया है। पुलिस ने इस मामले में 11 आरोपी गिरफ्तार किया है, जबकि मुख्य आरोपी विकास तालुकदार फरार है। हत्या के लिए 7 लाख की सुपारी दी गई थी। 1 लाख रुपये में कट्टा खरीदा गया था। हत्या में कांग्रेस नेता बप्पा गांगुली भी शामिल है। पुलिस ने बिना नंबर की बाइक, 3 लाख नकद जब्त किया है। इस राजनीतिक हत्याकांड का खुलासा कांकेर जिले के एसपी दिव्यांग पटेल ने किया।

एसपी ने बताया कि पखांजूर नगर पंचायत अध्यक्ष के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था। BJP पार्षदों ने अध्यक्ष बप्पा गांगुली के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव लाया था। पखांजूर के पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष और भाजपा जिला उपाध्यक्ष असीम राय की हत्या के पीछे राजनीतिक षड़यंत्र की बात सामने आई है। हत्या की जांच के लिए राज्य सरकार द्वारा गठित SIT ने 11 आरोपियों को गिरफ्तार किया है, जिसमें नगर पंचायत अध्यक्ष बप्पा गांगुली और पार्षद विकास पाल भी शामिल है। वहीं मुख्य शूटर विकास तालुकदार फरार है।

राज्य शासन ने SIT का गठन किया था
कांकेर जिले के पखांजूर में बीते 7 जनवरी को भाजपा जिला उपाध्यक्ष व पखांजूर के पूर्व नगर पंचायत अध्यक्ष असीम राय की गोलीमार हत्या कर दी गई थी। पुराना बाजार इलाके में घटित घटना के विरोध में असीम राय के समर्थकों ने जमकर हंगामा किया था। नगर के एक दुकान में तोड़फोड़ भी हुई थी। हत्या के विरोध में नगर बंद भी किया गया था। दोषियों को गिरफ्तार करने प्रदर्शन भी हुए, जिसके बाद राज्‍य सरकार ने एसआईटी का गठन किया था। एसआईटी ने जांच के बाद 12 लोगों को गिरफ्तार किया है, जिसमें नगर पंचायत अध्यक्ष बप्पा गांगुली और पार्षद विकास पाल भी शामिल है। जांच में यह बात सामने आई कि पखांजूर नगर पंचायत अध्यक्ष व कांग्रेस नेता बप्पा गांगुली और भाजपा पार्षद विकास पाल ने असीम राय की हत्या के लिए शूटर विकास तालुकदार को सुपारी दी थी।

अध्यक्ष की कुर्सी और होटल बना कारण
नीलरतन ने बीजेपी नेता असीम राय की हत्या के लिए अपने मौसेरे भाई शार्प शूटर विकास तालुकदार और जयंत विश्वास की मुलाकात सोमेंद्र मंडल से करवाई और असीम राय की हत्या के लिए नीलरतन ,विकास तालुकदार और जयंत विश्वास ने 7 लाख रुपये में बीजेपी नेता की हत्या करने का ठेका लिया, इधर सोमेंद्र मंडल को हिरासत में लेकर पूछताछ करने पर असीम राय की हत्या के षड्यंत्र में शामिल होना कबूल किया और बताया कि बीते 3 दिसंबर 2023 को मतगणना में प्रदेश में सत्ता परिवर्तन के बाद कांग्रेस नेता व नगर पंचायत अध्यक्ष बप्पा गांगुली के विरुद्ध अविश्वास प्रस्ताव लाया गया था और उनकी कुर्सी खतरे में थी, इसी तरह कांग्रेसी पार्षद विकास पाल को इस बात का डर था कि उसका पखांजूर इन होटल का अवैध निर्माण भी तोड़ा जाएगा, दोनों ही इस बात के लिए बीजेपी नेता असीम राय को ही जिम्मेदार मानते थे।

पूछताछ में हत्या के षड्यंत्र का हुआ खुलासा
इस हाई प्रोफाइल मर्डर की जांच के लिए एसपी ने 18 सदस्यीय एसआईटी टीम का गठन किया था। इसके बाद टीम ने घटनास्थल बाजार पारा का सीसीटीवी फुटेज खंगालने के साथ 500 से ज्यादा कॉल रेकॉर्ड निकाले, सीसीटीवी की मदद से बाइक में सवार दो अज्ञात हमलावर में पुलिस ने एक की पहचान पखांजूर निवासी विकास तालुकदार के रूप में की। मुखबिर के माध्यम से पता चला कि विकास तालुकदार को अक्सर नीलरतन मंडल के साथ घूमते फिरते देखा गया है। पुलिस टीम ने नीलरतन मंडल को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की। पूछताछ करने पर उसने बीजेपी नेता असीम राय की हत्या की पूरी षड्यंत्र का खुलासा किया। उसने बताया कि पखांजूर के कांग्रेस नेता व नगर पंचायत अध्यक्ष बप्पा गांगुली, कांग्रेसी पार्षद विकास पाल और व्यापारी जितेंद्र बैरागी तीनों मिलकर बीजेपी नेता असीम राय की हत्या करवाना चाहते हैं।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here