34.1 C
Raipur
Sunday, June 16, 2024

छत्तीसगढ़ में खराब प्रदर्शन वाले स्कूलों की खैर नहीं, प्राचार्यों की लगेगी क्लास, शिक्षा सचिव ने बोर्ड से मांगी ये जानकारी

रायपुर. न्यूजअप इंडिया
छत्तीसगढ़ में खराब रिजल्ट वाले स्कूलों के प्राचार्यों की शिक्षा विभाग अब क्लास लगाने वाली है। स्कूल शिक्षा विभाग के सचिव ने एक सप्ताह के भीतर दसवीं और बारहवीं कक्षाओं में सबसे अच्छे और सबसे बुरे परिणाम वाले स्कूलों की सूची भेजने के निर्देश दिए हैं। जिन स्कूलों का रिजल्ट खराब होगा उन स्कूलों के प्राचार्यों से जवाब तलब किया जाएगा।

स्कूल शिक्षा विभाग के सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेशी ने माध्यमिक शिक्षा मंडल से दोनों बोर्ड परीक्षाओं (10वीं और 12वीं) के परिणाम विद्यालयवार एक सप्ताह के भीतर अ और ब (दो श्रेणी) में मांगी गई है। इससे यह पता चलेगा कि इस शैक्षणिक सत्र में किस स्कूल का कितना प्रतिशत रिजल्ट रहा है। परिणामों के विश्लेषण और गुणवत्ता उन्नयन के लिए यह जानकारी मांगी गई है।

ऐसी चर्चा है कि सूची मिलने के बाद खराब रिजल्ट वाले स्कूलों पर कार्रवाई की जाएगी। जिन स्कूलों का रिजल्ट खराब होगा उन स्कूलों के प्राचार्यों से जवाब तलब किया जाएगा। उनसे पूछा जाएगा कि सरकार जब वेतन और इंफ्रास्ट्रक्चर पर इतना पैसा खर्च कर रही है तो इसके बाद भी रिजल्ट खराब क्यों है? खराब प्रदर्शन वाले स्कूलों की सूची संबंधित जिलों के कलेक्टरों को भेजा जाएगा।

बता दें 10वीं में जशपुर से सिमरन सब्बा और 12वीं में महासमुंद की महक अग्रवाल ने टॉप किया है। 10वीं में 75.61 और 12वीं में 80.74 प्रतिशत परीक्षा परिणाम है। 10वीं में 3 लाख 42 हजार 511 छात्र और 12वीं में 2 लाख 54 हजार 906 छात्रों ने परीक्षा में भाग लिया था। छत्तीसगढ़ बोर्ड ने 12वीं के परिणाम के साथ टापर्स की सूची जारी कर दी है। 10वीं की टॉपर सूची में 59 और 12वीं की टापर सूची में कुल 20 स्टूडेंट्स शामिल हैं।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here