32.6 C
Raipur
Monday, May 20, 2024

‘हां भई मोदी जी से डरते हैं…, कुत्ते-बिल्ली जितना घूमने नहीं आते, उतना ED-IT वाले आ रहे’, CM भूपेश ने क्यों कहा ऐसा…?

रायपुर. न्यूजअप इंडिया
छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा, हां भई मोदी जी से डरते हैं, क्योंकि सबको जेल में डाल देते हैं। पत्रकारों तक को जेल में डाल देते हैं तो बचत लोग तो डरेंगे ही। ईडी-आईटी तो बिल्कुल कुत्ते-बिल्ली उतने नहीं घूमते मोहल्लों में जितना वो घूम रहे हैं.. तो डरेंगे ही भई लोग…। जो एक बार जेल चला गया उसकी जमानत भी नहीं होना है… तो डरेंगे ही। दरअसल, जगदलपुर में PM मोदी ने देश के आधुनिकतम स्टील कारखाने का लोकार्पण किया। इस कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ के एक भी मंत्री नहीं गए थे। इस पर प्रधानमंत्री ने तीखा हमला बोला था।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बस्तर की सभा में जनता से पूछते हुए कहा कि आपकी भलाई के काम में सरकार को आना चाहिए कि नहीं। आपका यदि भला चाहते हैं तो आकर बैठना चाहिए था कि नहीं। इनके न आने के पीछे दो कारण है- एक, उन्हें अपनी सरकार जाने की इतनी चिंता है कि उनके पास यहां आने का समय नहीं है। सरकार बचाने में लगे हैं और दूसरा कारण है, यह मोदी है…। अगर मोदी के सामने जाना है तो कोई आकंठ भ्रष्टाचारी आंख नहीं मिल सकता है। इसलिए वो आने से डरते हैं, भाग जाते हैं। पीएम के इस बात पर ही सीएम भूपेश ने पलटवार किया।

‘हमने ना चक्काजाम किया और ना रोका है’
मुख्यमत्री भूपेश बघेल ने कहा कि नगरनार प्लांट का विरोध नहीं है, बल्कि प्लांट शुरू नहीं हुआ और उसे बेचने की प्लानिंग कर रहे हैं। हम इस बात का इसका विरोध कर रहे हैं। हम एक ही आश्वासन चाह रहे थे यह जो संयंत्र है वह बिकेगा नहीं, निजी हाथों नहीं जाना चाहिए। मांग केवल इतना ही है, इसलिए शांतिपूर्वक बस्तर बंद किया। हमने न चक्काजाम किया, ना रोका है। शांतिपूर्वक बस्तर बंद का आह्वान किया है, इसमें हम सफल भी रहे हैं।

‘निजी हाथों में नहीं जाएगा यह विश्वास दिलाएं’
मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि पीएम से इतना आग्रह है कि नगरनार निजी हाथों में नहीं जाएगा यह विश्वास दिलाएं। हमने पत्राचार भी किया। पूर्व सीएम डॉ. रमन ने कहा निजी हाथों में नहीं जाना चाहिए। विधानसभा में शासकीय संकल्प लेकर आए। केंद्र सरकार व एनएमडीसी प्लांट नहीं चलाना चाहती तो राज्य सरकार को दे दे। हमारे पास बहुत अनुभवी इंजीनियर है भिलाई में। फिर एनएमडीसी के चेयरमैन से भी बात की, लेकिन सारी बातों को अनुसुना कर दिया। नगरनार प्लांट निजी हाथों में न जाए इसका आश्वासन चाहते हैं। जब तक रोक नहीं लगेगी तब तक लड़ाई लड़ते रहेंगे।

‘रमन के समय राजनांदगांव से आती थी ट्रकें’
मुख्यमंत्री ने कहा कि 15 साल तो उनकी सरकार थी, बल्कि हमारी सरकार में रॉयल्टी बढ़ी है। हमने रॉयल्टी बढ़ाया है। उनके शासनकाल से 13,000 करोड़ ज्यादा मिला है। गड़बड़ी तो रमन शासनकाल में हुई, राजनांदगांव जिला से आयरन की ट्रक भर-भर के रायपुर आती थी। आज सब बंद है। उनके शासनकाल में यात्री ट्रेनें बंद हैं, सामान ढुलाने वाली ट्रेन राइट टाइम चल रही हैं। प्रधानमंत्री बिलासपुर आए थे, अभी जगदलपुर में हैं. बताये यात्री ट्रेन क्यों बंद हो रहा है?

‘झीरम घाटी के आरोपी जेल के पीछे होंगे’
पीएससी मामले में प्रधानमंत्री मोदी का बयान हमारी सरकार आयी तो आरोपी जेल की सलाखों में जाएगा, इस पर मुख्यमंत्री बघेल ने कहा कि रमन सरकार के कार्यकाल में गड़बड़ी पर तो पहले कार्रवाई कर लें। डोंगरे ने जो कोर्ट में फाइल किया था क्यों सुप्रीम कोर्ट गया? आरोपी यह बताएं। प्रधानमंत्री ने 2014 में धमतरी में कहा था, सरकार बनते ही 15 दिन के भीतर झीरम घाटी के आरोपी जेल के पीछे होंगे। कोर्ट के आदेश के बाद भी अभी तक पूछताछ क्यों नहीं की? गणपति से पूछताछ क्यों नहीं की थी? केंद्र सरकार ने सरेंडर करने के बाद नौकरी तो नहीं दे दी।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here