33.1 C
Raipur
Wednesday, May 29, 2024

CM ने निभाया पड़ोसी धर्मः दान कर दी अपनी 51 लाख रुपये की बचत, कहा- पैसों का इससे अच्छा उपयोग नहीं हो सकता

शिमला। हिमाचल प्रदेश में मानसूनी आफत से बड़ा नुकसान हुआ है। प्रदेश सरकार ने 12 हजार करोड़ के नुकसान का अनुमान लगाया है। प्राकृतिक आपदा की इस घड़ी में हर कोई मदद का हाथ आगे बढ़ा आ रहा है। बच्चे अपना गुल्लक तोड़ रहे हैं, कर्मचारियों ने अपना वेतन दिया और बुजुर्ग पेंशन भी छोड़ रहे हैं। हर वर्ग अपने सामर्थ्य के हिसाब से दान कर रहा है। ऐसे में मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने भी पड़ोसी पीड़ा हरने अपनी बचत की राशि दान कर दी। उन्होंने राज्य आपदा कोष में अपनी निजी जमा पूंजी 51 लाख रुपये का चेक मुख्य सचिव प्रबोध सक्सेना को सौंप दिया।

मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि आपदा की इस घड़ी में समाज के हर वर्ग का सहयोग मिल रहा है। कई बच्चों ने गुल्लक तोड़े, कर्मचारियों ने अपने वेतन और बुजुर्गों ने पेंशन दिया। इसे देखकर उनके मन में भी विचार आया कि अपनी निजी जमा पूंजी आपदा से पीड़ित परिवारों को राहत देने में दिया जाना चाहिए। खातों में जमा रकम और एफडी को तोड़कर कुल 51 आपदा कोष में दान किया हूं। पैसों का इससे बढ़िया और क्या उपयोग हो सकता है। इस राशि से प्रदेश के कुछ लोगों को राहत तो मिलेगी। बता दें कि सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू इससे पहले भी दान कर चुके हैं। कोरोनाकाल में विधायक रहते उन्होंने एक साल का वेतन छोड़ दिया था। उन्होंने एफडी तोड़कर 11 लाख रुपये महामारी से लड़ने के लिए राज्य सरकार को दिए थे।

12 हजार करोड़ के नुकसान का अनुमान
हिमाचल प्रदेश में मानसून ने भारी तबाही मचाई है। राज्य सरकार ने 12 हजार करोड़ के नुकसान का अनुमान लगाया है। कांग्रेस की सुक्खू सरकार इसे राष्ट्रीय आपदा घोषित कर राज्य को स्पेशल पैकेज देने की मांग मोदी सरकार से कर रही है। सरकारी आंकड़ों के मुताबिक पिछले दो महीनों में भारी बारिश, भू-स्खलन और बाढ़ से प्रदेश में 400 से अधिक लोगों की मौत हुई है। 13 हजार से अधिक घरों को नुकसान पहुंचा है, जिस कारण हजारों परिवार बेघर हो गए हैं।

आपदा राहत कोष में जमा हुए 200 करोड़
राज्य सरकार का दावा है कि इस प्राकृतिक आपदा के कारण प्रदेश को 12 हजार करोड़ से अधिक का नुकसान हुआ है। प्रभावितों को राहत देने आपदा राहत कोष का गठन किया है। कांग्रेस शाषित राज्यों के अलावा बिहार की सरकार ने भी राहत कोष में दान किया है। अब तक इस कोष में दान के तौर पर 200 करोड़ जमा हुए हैं। दो दिन पहले प्रियंका गांधी भी हिमाचल की त्रासदी को देखने गई थी। उन्होंने केंद्र से राज्य सरकार को विशेष पैकेज देने का आग्रह किया है।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here