33.2 C
Raipur
Friday, May 24, 2024

विनोद वर्मा के आरोपों पर रमन सिंह का पलटवार, कहा- सट्टा से भी जुड़े हैं सरकार के तार, दाऊ भूपेश को जवाब देना पड़ेगा

रायपुर। छत्तीसगढ़ में केंद्रीय प्रवर्तन निदेशालय (ED) की छापेमारी के बाद सियासी घमासान भी मच गया है। कांग्रेस-भाजपा के नेता एक दूसरे पर तीखे हमले भी बोल रहे हैं। कांग्रेस नेताओं ने इसे केंद्र की मोदी सरकार का तनाशाही रवैय्या करार देते हुए आगामी विधानसभा चुनाव में हारने का भय बताया है। ईडी की कार्रवाई छत्तीसगढ़ की राजनीति से प्रेरित होना बता रहे हैं। इधर पूर्व सीएम डॉ. रमन सिंह ने ईडी की कार्रवाई पर सीएम और उनके करीबियों पर हमला बोला। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि अब दाऊ भूपेश बघेल को जवाब देना पड़ेगा कि उनके कार्यालय में किसको कितने पैसे मिले हैं?

रायपुर एयरपोर्ट पर मीडिया से बात करते हुए का एक वीडियो डॉ. रमन सिंह ने अपने ट्विटर हैंडल पर अपलोड किया है, जिसमें उन्होंने लिखा है कि ‘अब सारे राज सामने आने लगे तो भ्रष्ट मंडली फिर भाजपा-भाजपा करने लगी है। ED ने तो साफ कर दिया है कि महादेव ऑनलाइन सट्टा के अवैध पैसे वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों और राजनीतिक रूप से मुख्यमंत्री कार्यालय से जुड़े नेताओं को ‘संरक्षण राशि’ के रूप में दिए जा रहे थे। अब दाऊ भूपेश बघेल को जवाब देना पड़ेगा कि उनके कार्यालय में किसको कितने पैसे मिले हैं? 75 करोड़ का हिसाब है। मुख्यमंत्री से भी पूछा जाए।

‘ED की कार्यवाही से साक्ष्य सामने आ चुके’
एक दूसरे ट्वीट में पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन ने लिखा कि ‘कोयला घोटाला, शराब घोटाला, गौठान घोटाला और अब तो सट्टे-जुएं के महादेव एप में भी मुख्यमंत्री कार्यालय से तार जुड़े मिलने लगे हैं। दाऊ भूपेश बघेल ने 5 साल में न सिर्फ छत्तीसगढ़ को लूटा है बल्कि सट्टे को बढ़ावा देकर घरों को उजाड़ा और करोड़ों कमाए भी हैं। कल ED की कार्यवाही से साक्ष्य सामने आ चुके हैं, अब चुनाव में जनता का आक्रोश भी सामने आएगा।’ इधर CM के सलाहकार विनोद वर्मा ने ED पर घर में डकैती डालने, दस्तावेज होने के बाद भी गहने-रुपयों की जब्ती गैर कानूनी तरीके से करना बताया है। उन्होंने कहा कि केंद्र की मोदी सरकार केंद्रीय एजेंसियों का उपयोग छत्तीसगढ़ में राजनीतिक लाभ उठाने कर रही है।

सलाहकार और दो OSD के घर पड़ी थी रेड
बता दें कि ED के अफसरों ने बुधवार को रायपुर और भिलाई में छापेमारी की थी। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के राजनीतिक सलाहकार विनोद वर्मा, सीएम के ओएसडी मनीष बंछोर, OSD आशीष वर्मा और उनके एक करीबी कारोबारी विजय भाटिया के घर पर सुबह से देर रात तक जांच पड़ताल की थी। इस कार्रवाई पर सीएम भूपेश बघेल ने केद्र सरकार पर तंज कसते हुए कहा था कि आदरणीय प्रधानमंत्री एवं अमित शाह जी! मेरे जन्मदिन के दिन आज आपने मेरे राजनीतिक सलाहकार एवं मेरे OSD सहित करीबियों के यहां ED भेजकर जो अमूल्य तोहफा दिया है, इसके लिए बहुत आभार…।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here