33.1 C
Raipur
Saturday, May 18, 2024

BJP के लिए “एकस्ट्रा प्लेयर” की भूमिका में ED-IT, CM भूपेश बोले- पाटन में नहीं गलेगी विजय बघेल की दाल

रायपुर। छत्तीसगढ़ में लगातार ED-IT के छापों पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि ED-IT भारतीय जनता पार्टी के मजबूत विंग हैं। पाकिस्तान में दो एक्सट्रा प्लेयर रहते हैं एम्पायर लोग…। मैं पहले ही बोलता था। ED-IT भाजपा को दो मजबूत विंग हैं। इसके माध्यम से भाजपा छत्तीसगढ़ में चुनाव लड़ना चाहती है। भूपेश ने कहा कि BJP मान चुकी है कि पाटन विधानसभा में विजय बघेल की दाल गलने वाली नहीं है, इसलिए ईडी को भेज दिया गया। अब ईडी-आईटी काम कर रही है। आने वाले समय में और कार्यकर्ताओं के यहां ED-IT वाले जाएंगे ताकि हम काम न कर सके।

सीएम भूपेश बघेल ने कहा कि महादेव एप पर राज्य सरकार ने बहुत कार्रवाई की है। कुछ जेल में हैं और कुछ बेल में है। मुख्य आरोपी देश के बाहर हैं। उनको पकड़ने लुकआउट सर्कुलर जारी किया है। यदि ईडी को ईमानदारी से कार्रवाई करना था, तो देश के बाहर जो आरोपी हैं उन्हें लाने का प्रयास करना था। आपने यह किया नहीं। आपने देखा इसमें पॉलिटकल एंगल कौन सा है। अधिकारी किसमें फंस सकते हैं, ताकि चुनाव में दबाव डालकर अपने पक्ष में काम करवा सके। केंद्र सरकार, सरकारी एजेंसियों का दुरुपयोग कर छत्तीसगढ़ सरकार को बदनाम करने की कोशिश कर रही है।

रमन बताएं गढ़मुक्तेश्वर की संपत्ति किसकी
सीएम भूपेश ने कहा कि डॉ. रमन सिंह पहले यह बताएं कि इंदिरा प्रियदर्शिनी बैंक घोटाला उनके ही कार्यकाल में हुई। किसी की रिकव्हरी नहीं हुई। हमारी सरकार ने एक करोड़ की रिकव्हरी करवाई। हितग्राहियों को पैसे भी वापस करेंगे। चिटफंड कंपनियों में ठगी के शिकार लोगों को राशि लौटा रहे हैं। रमन सिंह ने चिटफंड कंपनियों के आरोपियों को भागने क्यों दिया। 700 से अधिक लोग अभी जेल में हैं। सीएम भूपेश ने कहा कि डॉ. रमन सिंह पैनामा के बारे में भी बताए। उनके चिरंजीव कौन सा ऐसा धंधा करते हैं कि उनकी संपत्ति इतनी बढ़ गई। उत्तराखंड के गढ़मुक्तेश्वर की संपत्ति किसकी है यह भी रमन सिंह बताए। ऐसी कौन से कमाई है कि आय से अधिक तीन गुना संपत्ति हो गई।

BJP को 15 सीटें आई थी, इस बार मुश्किल
भूपेश ने कहा कि अधिकारियों से लेकर छोटे-छोटे कार्यकर्ताओं के ठिकानों पर छापे मारे जा रहे हैं। पिछले दिनों जब छत्तीसगढ़ में कांग्रेस का राष्ट्रीय अधिवेशन हुआ तब उसे भी प्रभावित करने की कोशिश की गई। व्यवस्था संभाल रहे लोगों के घर तक में छापा मारा गया। मेरे जन्मदिन के दिन मेरे राजनीतिक सलाहकार और मेरे OSD के घरों पर ED-IT पहुंच गई। पहले बीजेपी को 15 सीटें आई थी, लेकिन ऐसी हरकतों से अब वो भी मिलना मुश्किल है। प्रदेश की जनता देख रही है और इन हरकतों को पसंद नहीं करती। ईडी-आईटी के छापों से हम डरने वाले नहीं है।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here