33.1 C
Raipur
Wednesday, May 29, 2024

चुनाव और सियासत: भाजपा प्रत्याशी के खिलाफ कांग्रेस जाएगी हाईकोर्ट, नामांकन रद्द करने की अपील, जानिए क्या है मामला

रायपुर. न्यूजअप इंडिया
छत्तीसगढ़ में गुलाबी ठंड की शुरुआत हो गई है, लेकिन सियासी गर्मी बढ़ी हुई है। विधानसभा चुनाव में शब्दों के तीखे बाण एक-दूसरे पर छोड़े जा रहे हैं। इस बीच रायपुर जिले के अभनपुर सीट सुर्खियों में है। अभनपुर विधानसभा के भारतीय जनता पार्टी प्रत्याशी इंद्र कुमार साहू के खिलाफ कांग्रेस हाईकोर्ट जाएगी और नामांकन रद्द करने की अपील करेगी। कांग्रेस ने निर्वाचन आयोग से अभनपुर भाजपा प्रत्याशी की शिकायत की है, जिसमें कहा गया है कि बीजेपी के प्रत्याशी इंद्र कुमार साहू ने प्रॉपर्टी और क्रिमनल केसेस की सही जानकारी नहीं दी है।

कांग्रेस प्रत्याशी धनेंद्र साहू के विधिक सलाहकार डेशांत सिंह ठाकुर ने कहा कि आठ बिंदुओं के आधार पर हमने रिटर्निंग अधिकारी के पास आपत्ति कराई थी। अब हम हाईकोर्ट जाने के लिए तैयार हैं। हमें रिटर्निंग अधिकारी से मिलने वाले दस्तावेज का इंतजार है। वहीं बीजेपी प्रत्याशी इंद्र कुमार साहू ने कहा कि पांच बार के विधायक हैं, लेकिन डरे हुए हैं, कामकाज तो कुछ किया नहीं है। विधानसभा चुनाव से घबराए हुए हैं। जैसे भी करके नामांकन निरस्त कराने की कोशिश में हैं ताकि वो जीत सके। दुनिया में जहां से भी लड़े, हम लड़ने को तैयार है।

देश में पहले भी आ चुके ऐसे मामले
अगर शपथ पत्र में गलत जानकारी दी गई है तो अभनपुर से बीजेपी प्रत्याशी इंद्र कुमार साहू की मुश्किलें बढ़ सकती है। इंद्र कुमार के खिलाफ कांग्रेस ​​​रिटर्निंग ऑफिसर के बाद अब हाईकोर्ट में शिकायत करने की तैयारी में हैं। कांग्रेस प्रत्याशी धनेंद्र साहू के विधिक सलाहकार डेशांत सिंह ठाकुर ने कहा आठ बिंदुओं के आधार पर हमने रिटर्निंग अधिकारी के पास आपत्ति दर्ज कराई है। बता दें कि इससे पहले कई देश में ऐसे कई मामले सामने आ चुके हैं, जहां चुनाव जीतने के बाद भी नामांकन निरस्त या विधायकी समाप्त किया गया है। अगर हार गया है तो पेनाल्टी भी लगाया गया है।

कांग्रेस का भाजपा प्रत्याशी पर यह आरोप

  • पारिवारिक संपत्ति का विवरण नहीं दिया गया है जो हिन्दू कुटुम्ब में आता है।
  • इंद्र कुमार साहू द्वारा बच्चों की संख्या तीन बतायी गई है, जबकि चार बच्चे हैं बेटी का नाम अंकित नहीं हैं।
  • जमीन को सरकारी भूमि बताया गया है जो अस्तित्व में ही नहीं है रिकॉर्ड में कोई ऐसा जमीन ही नहीं है।
  • शैक्षणिक योग्यता को गलत बताया गया है, जिस विश्वविद्यालय का जिक्र किया गया है वहां उस समय बीकॉम की पढ़ाई नहीं होती थी।
  • बिजली चोरी के मामले में कार्रवाई हुई थी, जिसकी जानकारी नहीं दी गई है।
  • मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय में आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत दर्ज कराई गई है जिसका जांच लंबित है. इसको भी नहीं दर्शाया गया है।
  • साइबर में अभनपुर निर्वाचन अधिकारी ने जिला पुलिस अधीक्षक को लिखित शिकायत दर्ज कर साइबर एकत्र चुनाव विधानसभा 2023 के आधार पर कार्रवाई के लिए पत्र लिखा गया है। इसकी भी जानकारी नहीं दी गई है।
  • प्रदेश कांग्रेस कमेटी के डॉ. देवा देवांगन के नेतृत्व में आचार संहिता उल्लंघन की शिकायत की गई है, इसकी जानकारी छिपायी गई है।
Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here