38.1 C
Raipur
Thursday, June 13, 2024

‘मछली’ निगल गए भ्रष्टाचारी!… मछली पालन केज बनाने में 5 करोड़ का घोटाला, किसान की जगह फर्म को दी सब्सिडी, हितग्राहियों को पता ही नहीं

रायपुर. न्यूजअप इंडिया
‘मछली जल की रानी है… जीवन उसका पानी है। हाथ लगाओ डर जाएगी… बाहर निकालो मर जाएगी…’, लेकिन छत्तीसगढ़ सरकार की जिस योजना यानी ‘मछली’ की हम बात कर रहे हैं, वो न तो जल में गई और न बाहर निकाली गई, बल्कि सीधे निगल ली गई है। जी हां, भ्रष्टाचारियों ने यह कारनामा उस फंड में कर दिया है, जिसे नक्सल प्रभावित क्षेत्र के लिए भेजा गया था। किसानों के उत्थान के नाम से आई रकम से अफसर और कर्मचारियों ने अपना उत्थान कर लिया। घोटाले का सनसनीखेज खुलासा होने के बाद इसकी प्रशासनिक और राजनीतिक गलियारों में जमकर चर्चा है।

छत्तीसगढ़ के वन मंत्री केदार कश्यप ने मछली पालन के नाम हुए करीब 5 करोड़ का घोटाले के खुलासे के बाद कांग्रेस पर जमकर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि आदिवासियों को स्वरोजगार से जोड़ने वाले नक्सल बजट से मत्स्य विभाग में बड़ा खेल करके मछली पालन के केज बनाने में घोटाला तो किया ही, उस योजना की सब्सिडी किसान की जगह फर्म को दे दी! प्रदेश में गोबर के नाम पर शर्मनाक घोटाला करने वाली पिछली कांग्रेस सरकार ने मछली पालन के केज तक में भी घोटाला करके अपने भ्रष्ट राजनीतिक चरित्र का एक और काला अध्याय अपने शासनकाल में रचा है।

अफसर और कर्मचारियों ने किया अपना उत्थान
वन मंत्री केदार कश्यप ने कहा कि नक्सल प्रभावित क्षेत्र के लिए आए बजट को मछली पालन के केज बनाने की सब्सिडी में खर्च कर दिया गया। यही नहीं सब्सिडी किसानों के खाते के बजाय सीधे फर्म को भेजने का कारनामा करने वाला अधिकारी आज मछली पालन कर रहा है। कांग्रेस शासनकाल में किसानों के उत्थान के नाम पर आई रकम से अफसर और कर्मचारियों ने अपना उत्थान कर लिया।

राजनांदगांव में 5 करोड़ रुपये का घोटाला हुआ
वन मंत्री केदार कश्यप ने कहा कि राजनांदगांव में पिंजड़े में मछली पालन (केज कल्चर) के नाम पर करीब 5 करोड़ का घोटाला बेहद गंभीर है। कश्यप ने कहा कि सरकार के रिकॉर्ड में दर्ज हितग्राहियों को पता ही नहीं है कि उनके नाम से मछली पालन किया जा रहा है। मछली पालन भी ऐसा कि न तो मछली का पता और न ही तालाब में लगे केज का। केज कल्वर के नाम से अनुदान की रकम में जमकर भ्रष्टाचार किया गया है।

BJP सरकार में भ्रष्टाचारियों का बुरा हाल होगा
वन मंत्री केदार कश्यप ने कहा कि अजा-जजा समाज के लोगों का हक कांग्रेस ने मारा और इसका जीता-जागता यह उदाहरण है। ऐसे कई मामले हैं जो चीख-चीखकर यह बता रहे हैं कि कांग्रेस सरकार की नुमाइंदगी में चहुंओर किस तरह लूट मची थी! छत्तीसगढ़ में कांग्रेस कि भ्रष्टाचारी सरकार ने कोयला घोटाला, शराब घोटाला, गोबर घोटाला, डीएफ घोटाला, राशन घोटाला और ऐसे कई घोटाले करने के बाद मछली पालन के नाम पर भी घोटाला किया। कांग्रेस ने यह ठान लिया था कि छत्तीसगढ़ के लोगों की पाई पाई को लूट लेंगे। भाजपा सरकार में सभी लुटेरों का बराबर हिसाब होगा।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here