36.1 C
Raipur
Wednesday, May 29, 2024

डॉ. रमन सिंह ने सीएम भूपेश बघेल पर कसा तंज, कहा- अब समझ में आया ED से इतना डरते क्यों हैं?

रायपुर. न्यूजअप इंडिया
महादेव बेटिंग एप मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) द्वारा मुख्यमंत्री भूपेश बघेल पर लगाए गए आरोपों के बाद प्रदेश में सियासत गर्मा गई है। एक तरफ जहां भूपेश बघेल अपने बचाव में सफाई दे रहे हैं। वहीं भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने भूपेश बघेल को कटघरे में खड़ा कर दिया है। रमन सिंह ने कहा है कि इतना बड़ा अपराध पूरे देश में कहीं नहीं हुआ है। हर विधानसभा में पैसा बांटा जा रहा है। भूपेश बघेल कई करोड़ का चुनाव लड़ रहे हैं। ‘जो सुबह “प्रमोद” में थे, शाम को “असीम” भ्रष्टाचार में संलिप्त सिद्ध हुए हैं।

डॉ. रमन सिंह ने कहा कि ईडी ने दस्तावेजों को पकड़ा है। असीम दास के पास से 5 करोड़ 37 लाख रुपये मिले हैं। उन्होंने कहा कि अब ये हालत हो गए कि जुए और सट्टे से पैसा कमाने वाले महादेव ऐप से चुनाव में पैसा लिया जा रहा है। रमन सिंह ने भूपेश बघेल पर तंज कसते हुए कहा कि भूपेश बघेल इसलिए लगाता ईडी का नाम लेते रहते हैं और ईडी पर आरोप लगाते रहते हैं। ईडी ने अपनी विज्ञप्ति में 508 करोड़ रुपये का लेनदेन बताया है। छत्तीसगढ़ का मुख्यमंत्री जुआ, सट्टा और महादेव एप से पैसा लिया है। डॉ. रमन सिंह ने कहा कि शराब घोटाला, कोयला घोटाला, चावल घोटाला हो चुका है। अब महादेव एप से तार जुड़ गए हैं। मामला बिल्कुल स्पष्ट हो गया है। किसी व्यक्ति पर इतना बड़ा आरोप लगे तो उस व्यक्ति को इतने बड़े पद पर रहे का अधिकार नहीं है।

ईडी के भरोसे चुनाव लड़ रही भाजपा
ईडी द्वारा आरोप लगाए जाने के बाद सफाई देते हुए भूपेश बघेल ने कहा था कि ‘महादेव ऐप’ की कथित जांच के नाम पर ईडी ने पहले मेरे करीबी लोगों को बदनाम करने के लिए उनके घर छापे डाले और अब एक अनजान से व्यक्ति के बयान को आधार बनाकर मुझ पर 508 करोड़ लेने का आरोप लगा दिया है। ईडी की चालाकी देखिए कि उस व्यक्ति का बयान जाहिर करने के बाद एक छोटे से वाक्य में लिख दिया है कि बयान जांच का विषय है। अगर जांच नहीं हुई है तो एक व्यक्ति के बयान पर प्रेस रिलीज जारी करना न केवल ईडी की नीयत को बताता है बल्कि इसके पीछे केंद्र सरकार की बदनीयती को भी जाहिर करता है। किसी व्यक्ति का सम्मान को ठेस पहुंचाना आम बात हो गई है।

भ्रष्टाचार को मुद्दा बना रही भाजपा
बता दें कि छत्तीसगढ़ में दो चरणों में चुनाव कराए जाएंगे। पहले चरण का मतदान 7 नवंबर को जबकि दूसरे चरण का मतदान 17 नवंबर को होना है। चुनाव के परिणाम 3 दिसंबर को घोषित किए जाएंगे। चुनाव के पहले चरण में महज तीन दिन बचे हैं। ऐसे में भूपेश सरकार पर इस तरह के भ्रष्टाचार के आरोप लगने से कांग्रेस में हड़कंप मचा हुआ है। रायपुर से लेकर दिल्ली तक ईडी के दुरुपयोग को कांग्रेस मुद्दा बना रही है। वहीं इसे मुद्दा बनाकर हमलावर हो गई है।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here