26.4 C
Raipur
Friday, June 21, 2024

शराब घोटाला: EOW की हिरासत में पप्पू ढिल्लन, ACB दफ्तर में पूछताछ, टुटेजा की रिमांड अवधि 5 दिन और बढ़ी, महादेव सट्टा में दो गिरफ्तार

रायपुर. न्यूजअप इंडिया
छत्तीसगढ़ के तथाकथित 2000 करोड़ से ज्यादा के आबकारी घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय (ED) के साथ अब EOW ने भी कार्रवाई तेज कर दी है। पूर्व आईएएस अनिल टुटेजा की गिरफ्तारी के बाद अब EOW ने शराब कारोबारी त्रिलोक सिंह ढिल्लन उर्फ पप्पू ढिल्लन को हिरासत में लिया है। ढिल्लन से पूछताछ की जा रही है। EOW उसे कोर्ट में पेश कर रिमांड पर ले सकती है। इधर पूर्व IAS अनिल टुटेजा को कोर्ट में पेश किया गया, जहां से उन्हें 29 अप्रैल तक 5 दिनों की रिमांड पर ED को सौंप दिया है।

ईडी के प्रेस रिलीज में बताया था कि ढिल्लन ने शराब के अवैध पैसे को कर्ज के तौर पर लिया और फिक्स डिपॉजिट के रूप में अपने खातों में जमा कर लिया। उसने अवैध धंधे से मिलने वाली राशि को अपने बैंक खातों में जमा करने की अनुमति देने के साथ ही अपने फर्म्स को भी इस्तेमाल करने की इजाजत दी थी। ईडी ने ढिल्लन को शराब के अवैध धंधे का मुख्य बेनिफिशयरी बताया है। आबकारी घोटाला केस में ईडी ने एसीबी-ईओडब्ल्यू में प्राथमिकी भी दर्ज कराई है।

पूर्व IAS अनिल टुटेजा को नहीं मिली राहत
बता दें कि शराब घोटाला मामले में ED द्वारा दर्ज दूसरे इंफोर्समेंट केस इंफार्मेशन रिपोर्ट (ECIR) में पूर्व IAS अनिल टुटेजा की पहली गिरफ्तारी हुई है। टुटेजा को ईडी के अफसरों ने शनिवार को हिरासत में लेकर पूछताछ करने के बाद रविवार को गिरफ्तार कर प्रथम श्रेणी न्यायिक दंडाधिकारी की कोर्ट में पेश किया था। कोर्ट ने अनिल टुटेजा को एक दिन के लिए और इसके बाद दोबारा उसे दो दिन की न्यायिक रिमांड पर जेल भेजने का फैसला सुनाया था। बुधवार को उन्हें कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने उन्हें 29 अप्रैल तक 5 दिनों की रिमांड पर ED (प्रवर्तन निदेशालय) को सौंप दिया है।

शराब घोटाला में ACB में दर्ज है नई ECIR
सुप्रीम कोर्ट ने शराब मामले में मनी लांड्रिंग की कार्रवाई को यह कहते हुए रद्द कर दिया था कि एजेंसी के लिए PMLA के तहत आगे बढ़ने कोई अनुसूचित अपराध स्थापित नहीं हुआ है। इसके बाद ED द्वारा शराब घोटाला मामले में नई ECIR दर्ज की गई है। ईडी की नई ईसीआईआर 17 जनवरी को एसीबी-ईओडब्ल्यू की ओर से दर्ज की गई एफआईआर पर आधारित है। इसमें सेवानिवृत आईएएस अफसर अनिल टुटेजा, उनके बेटे यश टुटेजा सहित कई कांग्रेस नेताओं, नौकरशाहों और व्यापारियों सहित 70 लोगों को दो हजार करोड़ रुपये के कथित भ्रष्टाचार में नामजद किया गया है।

महादेव सट्टाः फरार दो आरोपी गिरफ्तार
इधर महादेव सट्टा एप मामले में दो आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया। कोर्ट ने आरोपी रितेश यादव और राहुल वकटे को 6 दिन की रिमांड पर EOW को सौंप दिया। सरकारी वकील मिथलेश वर्मा ने बताया कि EOW अब दोनों आरोपियों से पूछताछ करेगी। महादेव सट्टा मामले में चंद्रभूषण वर्मा की गिरफ्तारी के बाद दोनों फरार चल रहे थे। गिरफ्तारी के बाद बुधवार को आरोपियों को कोर्ट में पेश किया गया। दोनों 30 अप्रैल तक रिमांड पर रहेंगे और EOW पूछताछ करेगी।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here