32.6 C
Raipur
Monday, May 20, 2024

ऑपरेशन लोटस का डरः एग्जिट पोल में कांग्रेस के पक्ष में नतीजें फिर भी विधायकों की बाड़ेबंदी शुरू, चार्टेड प्लेन बुक करने की आईं खबरें

रायपुर. न्यूजअप इंडिया
छत्तीसगढ़ में काउंटिंग के दो दिन पहले विधानसभा चुनाव का एग्जिट पोल जारी हो चुका है। कई एग्जिट पोल में कांग्रेस को बढ़त मिलता बताया गया है। नतीजे कांग्रेस के पक्ष में आ रहे हैं। यहां संभावना है कि एक बार फिर कांग्रेस सत्ता में तो बीजेपी विपक्ष में बैठेगी। एग्जिट पोल में कांग्रेस को भले बढ़त मिलते दिखाई दे रही हो बावजूद इसके पार्टी में भय छाया हुआ है। ऑपरेशन लोटस को लेकर कांग्रेस ने विधायकों की बाड़ेबंदी करना शुरू कर दिया है।

राजनीतिक गलियारों में ऐसी चर्चा है कि कांग्रेस पार्टी ने प्लेन बुक करा लिया है। कांग्रेस के उम्मीदवारों को जीत के बाद प्रमाण पत्र के साथ रायपुर बुलाया गया है। ऐसी भी खबरें हैं कि जीते प्रत्याशियों को छत्तीसगढ़ से बाहर दूसरी जगह ले जाया जाएगा। बता दें कि प्रदेश में विधानसभा की 90 सीटों पर दो चरणों में 7 नवंबर और 17 नवंबर को मतदान हुआ है। 3 दिसंबर के दिन परिणाम आने है। चुनाव परिणाम आने के तीन दिन पहले अगल-अलग मीडिया हाउस के एग्जिट पोल जारी हुए हैं। इनमें कांग्रेस के पक्ष में नतीजे आए हैं, लेकिन कांग्रेस को हॉर्स ट्रेडिंग का डर सता रहा है।

प्राइवेट चार्टेड प्लेन बुक करने की आ रही खबरें
एग्जिट पोल्स के सभी आंकड़े भले ही कांग्रेस के पक्ष में आ रहे हैं, लेकिन पार्टी में हॉर्स ट्रेडिंग का डर बना हुआ है। पार्टी ने परिणाम आने से पहले अपने विधायकों की बाड़ेबंदी करनी शुरू कर दी है। एग्जिट पोल में कांग्रेस को 46 से 55 सीटों के बीच बताया गया है। राजनीतिक गलियारों में खबरें आ रही है कि कांग्रेस ने अपने प्रत्याशियों के लिए चार्टेड प्लेन बुक किया गया है। इतना ही नहीं उनको कहा गया है कि जीतने के बाद सर्टिफिकेट लेकर रायपुर पहुंचे, यहां प्रदेश प्रभारी के साथ एक विशेष मीटिंग होनी है।

कांग्रेस में जीत के बाद बैंगलुरू ले जाने की चर्चा
एग्जिट पोल के नतीजों में कांग्रेस को आगे दिखाते हुए सरकार बनाने का दावा किया जा रहा है, लेकिन राजनीतिक गलियारों में चर्चा है कि यदि दोनों पार्टियों में मुकाबला बहुमत के करीब पहुंचता है तो विधायकों की हॉर्स ट्रेडिंग की जा सकती है। इस डर के चलते ही पार्टी ने अपने प्रत्याशियों की बाडे़बंदी कर कांग्रेस शासित प्रदेश में भेज सकती है। चर्चा है कि प्रत्याशियों को जीत के बाद बैंगलुरू ले जाया जा सकता है। हालांकि ये चर्चाएं मात्र है, क्योंकि प्लेन प्राइवेट होने से एयरपोर्ट अथॉरिटी के इस बारे में भी कोई जानकारी नही हैं।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here