34.1 C
Raipur
Sunday, June 16, 2024

शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने शुरू किया अभियान, कहा- गाय को राष्ट्रमाता घोषित करने वाले दल को ही मिलेगा सनातनियों का वोट

BHILAI. Newsupindia
ज्योतिषपीठाधीश्वर जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद: सरस्वती ‘1008’ महाराज और अनुयायियों ने गौमाता को राष्ट्र माता घोषित करने के लिए आंदोलन छेड़ दिया है। उन्होंने राजनीतिक पार्टियों के लिए भी बड़ा सवाल खड़ा कर दिया कि लोकसभा चुनाव में जो पार्टी गाय को राष्ट्र माता घोषित करने के इस मुद्दे को घोषणा पत्र में शामिल करेंगी हिन्दू उनको ही वोट देंगे। शंकराचार्य स्वामी ने इस मांग को लेकर भिलाई में 10 मिनट का धरना दिया।

छावनी चौक पर रविवार को शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद सरस्वती ने 10 मिनट का सांकेतिक धरना देकर गौरक्षा को लेकर कानून बनाने की बात कही। उन्होंने ऐलान किया कि जब तक गाय को राष्ट्रमाता घोषित नहीं किया जाता तब तक वे अयोध्या राम के दर्शन करने नहीं जाएंगे। उन्होंने कहा कि इस आंदोलन को चारों पीठ के शंकराचार्य की सहमति है। इस मौके पर विधायक देवेंद्र यादव, भिलाई महापौर नीरज पाल मौजूद रहे। इस अवसर पर महापौर नीरज पाल ने छावनी चौक को गौमाता के नाम पर नामकरण किए जाने की घोषणा की। विधायक देवेंद्र यादव ने महापौर नीरज यादव के संकल्प की तारीफ की और कहा कि भिलाई की जनता का गौ माता का संकल्प देश के कोने-कोने तक जाएगा। इस दौरान ज्योतिर्मठ के सीईओ चंद्रप्रकाश उपाध्याय, ब्रह्मचारी ज्योतिर्मयानंद, धर्मेंद्र यादव सहित गौभक्त मौजूद रहे।

राजनीतिक दलों को धर्मसंकट में डाला
बता दें कि शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद ने पहले से ही इस बात की घोषणा कर दी थी कि वे गाय को राष्ट्रमाता का दर्जा दिलाने के लिए पूरे देश में अभियान शुरू करेंगे। जिसकी शुरुआत उन्होंने कर दी है। उन्होंने एक बार फिर वे बीजेपी, कांग्रेस सहित अन्य राजनीतिक दलों को धर्मसंकट में डाल दिया है। लोकसभा चुनाव के लिए प्रत्याशी उतारने का दौर चल रहा है। अब देखना होगा कि शंकराचार्य अविमुक्तेश्वरानंद के इस अभियान का राजनीतिक दलों और देश की जनता पर क्या प्रभाव पड़ता है।

रामजी आ गए पर गो हत्या बंद नहीं हुई
शंकराचार्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने कहा कि गौ हत्या के विरोध में और गौमाता को राष्ट्रमाता का दर्जा दिलाने को लेकर आज धरने पर बैठे हैं और अब उसी दल को हिंदू चुनेंगे जो घोषणा कर दे कि सत्ता में आएंगे तो गौ माता को राष्ट्र माता कही जाए और गौ हत्या बंद कर दी जाएगी। उन्होंने कहा कि अपने-अपने समय में सभी ने पहल की है, लेकिन यह दुर्भाग्य है कि 100 करोड़ भारतीयों कि आवाज सरकार नहीं सुन रही और इसलिए इस बार हमको कड़क होना पड़ रहा है। देश में रामजी आ गए, लेकिन अब तक गौ हत्या बंद नहीं हुई। इसे जल्द ही बंद करानी चाहिए।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here