38.1 C
Raipur
Thursday, June 13, 2024

बलौदाबाजार में हिंसक प्रदर्शनः कर्मचारियों को सुरक्षित बाहर निकाला, कई पुलिसकर्मी घायल, CM साय ने बुलाई आपात बैठक, CCTV से की जा रही उपद्रवियों की पहचान…

बलौदाबाजार. न्यूजअप इंडिया
छत्तीसगढ़ के गिरौदपुरी के जैतखाम को काटे जाने से सतनामी समाज आक्रोशित हो गया है। शांतिपूर्ण प्रदर्शन ने हिंसक रूप ले लिया है। प्रदेशभर से हजारों की संख्या में समाज के लोग बालौदाबाजार पहुंचे हैं। दशहरा मैदान में प्रदर्शन करने के बाद प्रदर्शनकारी पुलिस की सुरक्षा को भेदकर कलेक्टर कार्यालय पहुंच गए। कलेक्ट्रोट परिसर में खड़ी गाड़ियों को आग के हवाले कर दिया। जिला कार्यालय की बिल्डिंग में लगे शीशे पर पथराव किया। कलेक्टोरेट कार्यालय में आग लगा दिए। प्रदर्शनकारियों और पुलिस के बीच हुई झड़प में 12 से ज्यादा पुलिसकर्मियों के घायल होने की खबर मिल रही है।

बलौदाबाजार पुलिस अधीक्षक सदानंद कुमार ने बताया कि उपद्रवियों को बख्शा नहीं जाएगा। CCTV और वीडियोग्राफी की मदद से उपद्रवियों की पहचान की जा रही है। प्रदर्शनकारियों के हमले कई पुलिसकर्मी घायल हुए हैं। एक मजिस्ट्रेट को भी चोटें आई है। इधर बलौदाबाजार की घटना को लेकर मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय ने सीएम हाउस में आपात बैठक बुलाई है। मुख्य सचिव और डीजीपी के साथ बैठक कर रहे हैं। रायपुर से अतिरिक्त बल बलौदाबाजार भेज दिया गया है। कलेक्टर कार्यालय में कार्यरत कर्मचारियों को पीछे के रास्ते से सुरक्षित बाहर निकल लिया गया है।

5 से 6 हजार लोग कर रहे थे प्रदर्शन
बलौदाबाजार पुलिस अधीक्षक सदानंद कुमार ने कहा कि समाज के लोगों द्वारा शांतिपूर्ण प्रदर्शन की बात कही गई थी, लेकिन वे लोग कलेक्टोरेट तक पहुंच गए। 500 से ज्यादा पुलिस कर्मी तैनात थे, लेकिन प्रदर्शनकारियों की संख्या बहुत ज्यादा थी। 5 से 6 हजार की संख्या में प्रदर्शनकारी कलेक्टर परिसर पहुंच कर उग्र प्रदर्शन करने लगे। इधर प्रदर्शनकारियों द्वारा कलेक्टोरेट कार्यालय में तोड़फोड़ और आगजनी की घटना के बाद रायपुर रेंज के आईजी अमरेश मिश्रा बलौदाबाजार पहुंच गए हैं। वहीं सीएम विष्णुदेव साय ने फोन के जरिए कलेक्टर और एसपी से बात की है। अभी कितना नुकसान हुआ है, इसका आकलन नहीं हो पाया है।

समाज CBI जांच की मांग कर रहा
दरअसल, सतनामी समाज की आस्था के प्रमुख केन्द्र गिरौदपुरी धाम से लगा हुआ महकोनी ग्राम के पास बाबा गुरु घासीदास जी के ज्येष्ठ पुत्र गुरु अमरदास जी के नाम से अमर गुफा स्थित है। जहां पर कई वर्षों से गुरुगद्दी और जैतखाम स्थापित है। प्रतिदिन पुजारी सुबह-शाम पूजा करते हैं। कुछ दिनों पहले असामाजिक तत्वों ने सुनियोजित ढंग से तीन जैतखाम को आरी से काट-काट कर फेंक दिया गया। सुबह जब पूजा करने गए तब देखा कि कुछ असामाजिक तत्वों ने जैतखाम नुकसान पहुंचाया है। इसके बाद पुजारी कसमदास ने थाने पहुंचकर अज्ञात लोगों के खिलाफ शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस की कार्रवाई से सतनामी समाज के लोग संतुष्ट नहीं है। इसकी सीबीआई जांच करने की मांग प्रदर्शन कर रहे हैं। वहीं गृहमंत्री विजय शर्मा ने जांच के लिए SIT गठित की है।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here