32.6 C
Raipur
Monday, May 20, 2024

‘गंगाजल पर लगा 18 फीसदी GST, ऑनलाइन मंगाने पर देने होंगे 125 रुपये, CM भूपेश बोले- क्या श्रद्धालु पूजा-पाठ न करें?

रायपुर.न्यूजअप इंडिया
हिंदू धर्म में गंगाजल का काफी महत्व है। शुद्धिकरण हो या फिर कोई धार्मिक अनुष्ठान… हर काम में गंगाजल का विशेष महत्व है। हिंदू धर्म में पापों के नाश के लिए गंगा स्नान को सर्वश्रेष्ठ माना गया है, लेकिन अब गंगाजल खरीदना भी महंगा हो गया है। केंद्र सरकार ने गंगाजल की खरीदारी पर गुड्स एंड सर्विस टैक्स (GST) लगाने का फैसला लिया है। अगर आप गंगाजल की ऑनलाइन खरीदारी कर रहे हैं तो आपको 18% जीएसटी के साथ इसका भुगतान करना पड़ेगा। 30 रुपये में मिलने वाली 250 एमएल की बोतल के लिए लोगों को अब 35 रुपये चुकाने होंगे। वहीं ऑनलाइन मंगाने पर 125 रुपये खर्च करना पड़ेगा।

गंगाजल की बढ़ी कीमत पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने तंज कसा है। उन्होंने सोशल मीडिया X पर लिखा- ‘अब गंगाजल पर भी GST!!!, क्या श्रद्धालु पूजा-पाठ न करें? क्योंकि केंद्र की भाजपा सरकार की मंशा तो ऐसी ही लग रही है। मोदी सरकार ने 4 दिन पहले गंगाजल पर 18 प्रतिशत जीएसटी लगाने का निर्णय किया है, जिससे नकली रामभक्त, सनातन संस्कृति के महिमा मंडन का ढोंग करने वाले तथा गौमाता की रक्षा के नाम पर आतंक फैलाने वालों का चेहरा बेनकाब हो गया है। मोदी जी जनभावनाओं का सम्मान करते हुए गंगाजल पर जीएसटी लगाने का निर्णय तत्काल वापस लें।’

‘ऑनलाइन मंगाने पर देने होंगे 125 रुपये’
गंगाजल ऑनलाइन मंगाने पर एक बोतल 125 रुपये की पड़ेगी। भारतीय डाक विभाग की वेबसाइट से अगर आप गंगाजल खरीदते हैं तो स्पीड पोस्ट चार्ज के साथ गंगोत्री के गंगाजल की 250 एमएल की एक बोतल 125 रुपये, दो बोतल 210 रुपये और 4 बोतल 345 रुपये में मिलेंगी। आर्डर करने पर डाकिये घर तक गंगाजल पहुंचाएंगे।

‘अब मिलता है सिर्फ गंगोत्री का गंगाजल’
योजना के तहत डाक विभाग पहले गंगोत्री और ऋषिकेश का जल उपलब्ध कराता था। पिछले तीन साल से सिर्फ गंगोत्री का जल ही उपलब्ध कराया जा रहा है। गंगा का उद्गम स्थल होने के कारण इसे सबसे शुद्ध गंगाजल माना जाता है। धार्मिक अनुष्ठान में गंगाजल का प्रयोग अनिवार्य रूप से किया जाता है। डाक विभाग गंगाजल लोगों के घर तक पहुंचा रहा है, लेकिन पहले इसे लेने के लिए लोगों को मीलों की दौड़ लगानी पड़ती थी।

‘गंगाजल आपके द्वार 2016 में शुरू हुई थी’
केंद्र सरकार की गंगाजल आपके द्वार योजना 2016 में शुरू हुई थी। इसका उद्देश्य लोगों को आसानी से गंगाजल उपलब्ध कराना और डाकघरों की आय बढ़ाना था। पहले ऋषिकेश और गंगोत्री की 200 और 500 मिलीलीटर गंगाजल की कीमत क्रमश: 28 और 38 रुपये थी। वर्तमान में डाक विभाग गंगोत्री के गंगाजल की 250 एमएल की बोतल उपलब्ध करा रहा है, जिसकी कीमत 30 रुपये थी। 18% जीएसटी लगने के बाद अब इसकी कीमत 35 रुपये हो गई है।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here