26.4 C
Raipur
Friday, June 21, 2024

Mahadev सट्टा एप में FIR होने पर भूपेश बघेल बोले- लोकसभा चुनाव में हार के डर से मेरे खिलाफ साजिश रच रही BJP

रायपुर. न्यूजअप इंडिया
लोकसभा चुनाव से पहले छत्तीसगढ़ की सियासत में महादेव एप का जिन्न फिर बाहर आ गया है। महादेव बैटिंग एप केस में पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल के नाम पर FIR दर्ज की गई है। FIR को लेकर भूपेश बघेल ने कहा कि लोकसभा चुनाव की तारीख घोषित हो चुकी है। राजनांदगांव से कांग्रेस ने मुझे प्रत्याशी बनाया है। यह चर्चा मीडिया में पहले से ही शुरू हो गई थी। इसी बीच में महादेव एप का जिन्न बाहर आया। EOW ने केस दर्ज किया है, जिसमें मेरा भी नाम है 4 मार्च की FIR की कॉपी है और आज 17 मार्च को प्रकाशित किया गया। इतने दिनों तक यह क्या कर रहे थे?

भूपेश बघेल ने कहा कि यह राजनीतिक FIR है। दबावपूर्वक मेरा नाम FIR में डाला गया है। यह केवल राजनीतिक प्रतिशोध है। पूर्व सीएम बघेल ने कहा कि महादेव एप से सब परिचित हैं। सरकार में रहते हुए 2022 में हमने पहली FIR दर्ज की थी। 450 से अधिक गिरफ्तारियां हुई थी। महादेव एप में व्यापक पैमाने में छत्तीसगढ़ में कार्रवाई हुई। एक हजार से अधिक खाते सीज किए गए। हमने रवि उत्पल और सौरभ चंद्राकर के खिलाफ लुकआउट सर्कुलर जारी किया, लेकिन केंद्र सरकार ने गिरफ्तारी नहीं की। बीच में अचानक शुभम चंद्राकर की एंट्री होती है, उसका बीजेपी कार्यालय से एक वीडियो जारी होता है। असीम दास के पास जिस गाड़ी से पैसा पकड़ा जाता है वो बीजेपी नेता के रिश्तेदार की गाड़ी है। विधानसभा अध्यक्ष के साथ असीम दास की फोटो है।

विष्णुदेव के सुशासन पर साय-साय चल रहा
भूपेश बघेल ने तंज कसते हुए कहा, मोदी की गारंटी और विष्णुदेव के सुशासन पर महादेव एप साय-साय चल रहा है। FIR में छठवें नंबर में मेरा नाम लिखा गया। साथ ही साथ महादेव प्रमोटरों के नाम भी लिखे गए हैं। 6 वे नंबर पर नाम जरूर दर्ज है, लेकिन पीछे के कॉलम में मेरा नाम का जिक्र कहीं भी नहीं किया गया है। राजनीतिक प्रतिशोध निकाला जा रहा है। पुलिस और प्रशासनिक अफसरों का नाम अज्ञात है। अगर ईडी जांच कर रही थी तो उनका नाम भी जरूर होगा। आखिर उन्हें बचाया जा रहा है या फिर अफसरों को डरा-धमकार उनसे गलत काम करवाना चाहते हैं।

महादेव सट्टा एप वालों से पैसा ले रही बीजेपी
भूपेश बघेल ने सवाल उठाते हुए कहा कि जब मेरा नाम डाला गया तो अधिकारियों का नाम क्यों नहीं डाला गया। लोकसभा चुनाव में जानबूझकर बदनाम करने के लिए ये किया गया। बीजेपी की सरकार चल रही है। महादेव एप चल रहा है। प्रोटेक्शन मनी की बात बीजेपी न ही करे तो बेहतर है। प्रोटेक्शन मनी कौन ले रहा है, सबको अच्छे से पता है। भूपेश बघेल ने कहा कि अगर नोटिस भेजा जाएगा तो मैं जरूर जाऊंगा। इस मुद्दे पर न्यायिक सलाह ली जाएगी। जिस तरीके से भारतीय जनता पार्टी ने फ्यूचर गेमिंग से पैसे लिए गए हैं। ठीक उसी तरह महादेव सट्टा ऐप से भी पैसे लिए गए हैं, इसलिए कार्रवाई नहीं की जा रही है। उनके संरक्षक में ऑनलाइन बैटिंग एप आज भी चल रहा है।

BJP को सबसे ज्यादा चंदा देने वाला सट्टेबाज
पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने यह भी कहा कि बीजेपी को सबसे ज्यादा चंदा देने वाला सट्टेबाज ही हैं। फ्यूचर गेमिंग होटल सर्विस ने सबसे ज्यादा चुनावी चंदा दिया है। सट्टा कंपनियों पर लगातार ईडी की रेड पड़ी और इन्हीं से बड़ा चंदा भाजपा को मिला। महादेव एप के संचालकों को नहीं पकड़ा जा रहा है। कहीं कोई लेन-देन तो नहीं? राजनांदगांव सीट का चुनाव बीजेपी हार चुकी है और मुझे बदनाम करने के लिए इस प्रकार की चीजें लाई गई। लोकसभा चुनाव में मुझे प्रत्याशी बनाने से भारतीय जनता पार्टी को इसका नुकसान पूरे प्रदेश में होगा।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here