26.4 C
Raipur
Friday, June 21, 2024

बलौदाबाजार में कलेक्टर-SP दफ्तर को आग लगाई, गाड़ियों में तोड़फोड़, सतनामी समुदाय धार्मिक स्थल तोड़ने से नाराज, पुलिस पर दोषियों को बचाने का आरोप

बलौदाबाजार. न्यजअप इंडिया
छत्तीसगढ़ के गिरौदपुरी के जैतखाम में तोड़फोड़ से सतनामी समाज उग्र हो गया है। आक्रोशित समाज के हजारों लोगों ने सोमवार को बलौदाबाजार कलेक्ट्रेट-पुलिस अधीक्षक दफ्तर का घेराव कर उसे आग के हवाले कर दिया। परिसर में खड़ी सैकड़ों गाड़ियों सहित दमकल की दो गाड़ियों पर आग लगा दी। अधिकारियों की गाड़ियों में तोड़फोड़ भी की गई। पुलिस पर दोषियों को बचाने का आरोप लगा रहे हैं। घटना में कई पुलिस कर्मियों के घायल होने की खबर है। वहीं गृहमंत्री विजय शर्मा ने कहा है कि पूरे मामले की न्यायिक जांच की जाएगी। दोषियों पर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

बता दें कि गिरौदपुरी धाम से 5 किमी दूर मानाकोनी में पुरानी बाघिन गुफा है। यहां जैतखाम और सतनामी समाज के पूजा स्थल पर तोड़फोड़ की गई थी। इस घटना से सतनामी समाज के लोगों में आक्रोश है। जैतखाम में तोड़फोड़ से सतनामी समाज दोषियों पर कार्रवाई को लेकर कई दिनों से प्रदर्शन कर रहे हैं। सोमवार को प्रदर्शनकारियों का आक्रोश भड़क गया और कलेक्टोरेट परिसर में तोड़फोड़ करने लगे। प्रदर्शनकारी की संख्या 4 हजार से ज्यादा बताई जा रही है। वहीं पुलिस बल की संख्या कम है। कलेक्टर कार्यालय के पीछे के रास्ते से कर्मचारियों को सुरक्षित निकला जा रहा है। गृहमंत्री विजय शर्मा ने सभी से सामाजिक सौहार्द्र बनाए रखने की अपील भी की है।

शासन-प्रशासन ने आवश्यक कदम नहीं उठाए
छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने सोशल मीडिया X पर ट्वीट कहा कि बलौदाबाजार में हुई हिंसा की घटना चिंताजनक है। अगर शासन-प्रशासन ने समय पर आवश्यक कदम उठाए होते तो लोगों की नाराज़गी को इस हद तक जाने से रोका जा सकता था। सतनामी समाज बाबा घासीदास के बताए शांति और सद्भाव के रास्ते पर चलने वाला समाज है। मैं समाज के लोगों से शांति बनाए रखने की अपील करता हूं।

अपडेट जारी…

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here