33.1 C
Raipur
Saturday, May 18, 2024

विष्णुदेव साय कैबिनेट में युवा और अनुभव का मेल, छत्तीसगढ़ में इन नेताओं को मिल सकती है मंत्रिमंडल में जगह

रायपुर. न्यूजअप इंडिया
छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री की घोषणा होने के बाद विष्णुदेव साय मंत्रिमंडल को लेकर रायशुमारी शुरू हो गई है। कैबिनेट किसे बनाया जाएगा इसे लेकर राजनीतिक चर्चाएं भी तेज हो गई है। राजनीतिक गलियारों में ऐस बात की चर्चा है कि कैबिनेट में नए और अनुभवी चेहरों को जगह मिलेगी। कुछ चेहरे भाजपा शासनकाल में बतौर मंत्री आप देख चुके हैं वो साय कैबिनेट में फिर देखने को मिलेंगे। मंत्रिमंडल में जातिगत समीकरणों को विशेष ध्यान रखा जाएगा।

नए मुख्यमंत्री विष्णुदेव साय के शपथ ग्रहण की तैयारियों जोर-शोर से चल रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृहमंत्री अमित शाह, भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा भी शपथ ग्रहण में शामिल होंगे। मंत्रिमंडल में कौन-कौन से चेहरे होंगे, किसको मौका मिलेगा, किस तरह से जातिगत समीकरण साधेंगे, क्षेत्रीय वाद, अनुभवी और नए लोगों की ऊर्जा का समावेश करने की बातें सामने आ रही है। इन चर्चाओं के बीच एक बात तो तय है कि सरगुजा और बस्तर क्षेत्र के लोगों को विशेष ख्याल रखा जाएगा। अगर हम रायपुर संभाग की बात करें तो से यहां से दो सीनियर और एक जूनियर को मौका मिल सकता।

प्राथमिकता में बस्तर और सरगुजा संभाग
आदिवासी बेल्ट सरगुजा और बस्तर से दो से तीन लोगों को मंत्रिमंडल में स्थान मिलने की संभावना है। ऐसी चर्चा है कि रेणुका सिंह और गोमती साय में से किस एक का नंबर लग सकता है। वहीं बस्तर संभाग से दो और दुर्ग संभाग से दो लोगों को मंत्रिमंडल में जगह मिलेगी। बिलासपुर संभाग से भी नाम होंगे। छत्तीसगढ़ में मुख्यमंत्री, दो डिप्टी सीएम के साथ 12 मंत्री होंगे। प्रदेश अध्यक्ष अरुण साव और प्रदेश महामंत्री विजय शर्मा को डिप्टी CM बनाए जाने की चर्चा है। पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह को विधानसभा अध्यक्ष की जिम्मेदारी दी जा सकती है।

जातिगत समीकरणों के हिसाब से कैबिनेट
मंत्रिमंडल में दो ओबीसी, 3 से 4 सामान्य वर्ग से और दो अनुसूचित जाति वर्ग के विधायकों को मौका मिल सकता है। विष्णुदेव साय मंत्रिमंडल में वरिष्ठ आदिवासी नेता रामविचार नेताम, विक्रम उसेंडी, केदार कश्यप, रेणुका सिंह, लता उसेंडी और गोमती साय के नाम की चर्चा है। OBC वर्ग से ओपी चौधरी, अजय चंद्राकर, धरमलाल कौशिक और सामान्य वर्ग से बृजमोहन अग्रवाल, राजेश मूणत, अमर अग्रवाल को मंत्री बनाया जा सकता है। वहीं सतनामी समाज से दयालदास बघेल या डोमनलाल कोर्सेवाड़ा को मंत्री बनाया जा सकता है। प्रदेश के सह प्रदेश प्रभारी नितिन नबीन ने कहा, विष्णुदेव साय कैबिनेट में पुराने लोगों का अनुभव और नए लोगों की ऊर्जा का समावेश होगा।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here