33.1 C
Raipur
Thursday, June 13, 2024

‘महतारी वंदन योजना’ पर सख्त हुई सरकार… जल्द शुरू होगी नामों की छंटाई… 70 लाख हितग्राहियों के दस्तावेजों की होगी जांच

रायपुर. न्यूजअप इंडिया
छत्तीसगढ़ की विष्णुदेव साय सरकार की फ्लैगशिप योजना महतारी वंदन को लेकर महिला एवं बल विकास मंत्री लक्ष्मी राजवाड़े ने बड़ा बयान दिया हैं। उन्होंने साफतौर पर कहा कि इस योजना के हितग्राहियों के आवेदनों की जांच की जाएगी और अपात्र हितग्राहियों की छंटाई की जाएगी। लक्ष्मी राजवाड़े ने यह भी कहा कि जिन पात्र महिलाओं के नाम नहीं जुड़ पाए हैं और पात्र होते हुए भी योजना का लाभ नहीं मिल रहा है, उनके नाम को जोड़कर उन्हें लाभ दिया जाएगा।

मंत्री लक्ष्मी ने कहा कि महिला एवं बाल विकास विभाग ने यह कदम उन शिकायतों के बाद उठाने का निर्णय लिया है, जिसमें योजना का लाभ अपात्र महिलाओं द्वारा लिए जानें की शिकायतें सामने आई है। वहीं सूत्रों का कहना है कि शासकीय सेवा में पदस्थ, सेवानिवृत्त और पेंशन का लाभ ले रहीं महिलाओं ने भी आवेदन किया। कई महिलाएं योजना का लाभ ले रहीं हैं। ऐसे भी मामले सामने आए हैं, जिनमें एक महिला ने दो-दो आवेदन किए और दोनों स्वीकृत हो गए हैं।

20 हजार से ज्यादा आवेदनों की होगी जांच
सूत्रों के मुताबिक कई महिलाओं के बैंक खाते में दो-दो बार राशि हस्तांरित हो रही है। ऐसे अधिकतर मामलों में आवेदकों ने स्वयं के अलावा अपने पति या परिजनों का आधार कार्ड नंबर आवेदन में लगाया है। सत्यापन के दौरान यह पकड़ में नहीं आया। विभाग एक नाम वाले 20 हजार से अधिक आवेदनों की जांच कर रहा है। इनमें नाम, पता, जन्म तिथि समान हैं। लगातार मिल रही शिकायतों को लेकर विभाग अब प्रदेश के 70 लाख लाभार्थियों की फिर से जांच करेगा।

महतारी वंदन को बंद करेगी सरकारः कांग्रेस
बता दें कि भारतीय जनता पार्टी ने विधानसभा चुनाव के दौरान सरकार बनने पर महिलाओं को 1000 रुपये महतारी वंदन योजना से देने का वादा किया था। प्रदेश में लगभग 70 लाख महिलाओं को योजना से जोड़ा गया है। साय सरकार ने अब तक 4 किस्त भी जारी कर दिए हैं। अब आवेदनों की फिर से जांच किए जाने की बात सामने आते ही कांग्रेस के नेता सरकार पर हमलावर हैं। पूर्व CM भूपेश बघेल ने इसे महतारी वंदन घोटाला करार देते हुए एक पोस्ट भी किया है। वहीं नेता प्रतिपक्ष चरण दास महंत ने आशंका जाहिर करते हुए कहा कि BJP सरकार महतारी वंदन योजना को खत्म करने वाली है। लोकसभा चुनाव से पहले जांच क्यों नहीं किए। चुनाव परिणाम के बाद अब जांच की बात कह रहे हैं।

यह भी पढ़ें…

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here