33.1 C
Raipur
Thursday, June 13, 2024

‘ED विपक्षी दलों को बदनाम करने की साजिश रच रही’, भूपेश बोले- सुप्रीम कोर्ट के फैसले से साफ हो गया कि भाजपा सिर्फ झूठ फैला रही थी

रायपुर. न्यूजअप इंडिया
छत्तीसगढ़ में दो हजार करोड़ के कथित शराब घोटाला मामले में सुप्रीम कोर्ट का आदेश आने के बाद पूर्व मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने प्रवर्तन निदेशालय (ED) और भारतीय जनता पार्टी पर जमकर निशाना साधा है। उन्होंने कहा है कि आज सुप्रीम कोर्ट के फैसले से साफ हो गया है कि भाजपा सिर्फ़ झूठ फैला रही थी। बता दें कि भूपेश बघेल अभी राजनांदगांव लोकसभा सीट से कांग्रेस की टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं।

पूर्व सीएम बघेल ने सोशल मीडिया X पर लिखा- ‘ईडी का शर्मनाक राजनीतिक दुरुपयोग साबित हुआ और मोदी सरकार बेनकाब हुई। सुप्रीम कोर्ट के आज के फ़ैसले से साबित हो गया है कि ईडी भाजपा के इशारे पर हर मामले को मनी लॉण्ड्रिंग का मामला बनाकर विपक्षी दलों को बदनाम करने की साजिश रच रही है। ऐन विधानसभा चुनाव से समय ईडी ने शराब घोटाले का मामला दर्ज किया और भाजपा को चुनावी हथियार दिया। भाजपा ने पूरे चुनाव में कांग्रेस की सरकार को बदनाम करने की कोशिश की।’

‘ED किसी राजनीतिक खेल का हिस्सा न बनें’
बघेल ने यह भी लिखा कि ‘आज सुप्रीम कोर्ट के फ़ैसले से साफ़ हो गया है कि भाजपा सिर्फ़ झूठ फैला रही थी। भाजपा की केंद्र सरकार द्वारा लोकतांत्रिक संस्थाओं का दुरुपयोग करके अपने राजनीतिक प्रतिद्वंद्वियों को बदनाम करने का यह षडयंत्र खुल गया है। जनता देखेगी कि और जो भी मामले कांग्रेस को बदनाम करने के लिए खड़े किए गए हैं वो भी इसी तरह से धराशाई होंगे। यह सही समय है, जब ईडी जैसी जांच एजेंसियों को भी समझना चाहिए कि उनकी प्रतिबद्धता संविधान के प्रति होनी चाहिए। वे किसी राजनीतिक खेल का हिस्सा न बनें।’

मनी लॉन्ड्रिंग का मामला नहीं बनताः सुप्रीम कोर्ट
बता दें कि सुप्रीम कोर्ट ने छत्तीसगढ़ के शराब घोटाले से जुड़े मनी लांड्रिंग मामले को रद्द कर दिया है। दो हजार करोड़ रुपये के शराब घोटाले में पूर्व आईएएस अधिकारी अनिल टुटेजा और उनके बेटे यश के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग मामले में देश की सर्वोच्‍च अदालत ने यह फैसला सुनाया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मामले में ईडी की ECIR और एफआईआर को देखने से पता चलता है कि कोई विधेय अपराध नहीं हुआ है और जब कोई आपराधिक धनराशि ही नहीं है तो मनी लांड्रिंग का मामला ही नहीं बनता।

Latest news
Related news

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here